Cult Groups | Shincheonji | Church of almighty god

Cult Groups सावधान ! नहीं तो बाद में पछताओगे…

आज कल बहुत से झूठे मसीह और भविष्यवक्ता इंडिया में दिन-ब-दिन बढ़ते जा रहे हैं. विश्वासी लोग भी भ्रम में हैं. और सच्चाई जानना चाहते हैं. हम आपको कुछ सच्ची घटना बताते हैं. Shincheonji: New heaven and new earth // Church of almighty god // यह लेख पढ़े और सावधान रहे. यह लेख इंडिया के हर मसीही विश्वासी को जागरूक करने के उद्देश्य से लिखा गया है.

घटना -1  (Real Story)

मुझे बहुत अफसोस है इस बात का कि मैंने अपना एक दोस्त को मसीह में खो दिया। वह आत्मिक रूप से मुझ से अलग हो चुका है। वह मेरा कॉल और मैसेज का कोई जबाब नहीं देता है। उसने मुझे ब्लॉक कर दिया। अब वह मुझे और चर्च के पास्टर को भी पापी समझता है। यहाँ तक कि वह अपना मम्मी और पापा से भी बात करना बंद कर दिया है। अब तो वह यह मान बैठा है कि वही स्वर्ग जाएगा। वह विश्वास करता है कि चीन में प्रभु यीशु मसीह एक महिला के रूप में आ चुका हैं। इसीलिए अब अपनों से दूर हो गया है। (अज्ञात)

Church of almighty god

घटना -2  (Real Story)

इसी तरह से मैं एक बहन को जानता हूँ। वह खुद को परिवार से अलग कर ली और किराये का मकान में रहती है। वह रात-दिन कोरिया वालों के साथ मिल कर बाईबल की बातें ऑनलाइन सिखाती है। उसने भी मम्मी-पापा और अपने दोस्तों से बात करना बंद कर दिया है। पता है वह ऐसा क्यों हो गई है? वह विश्वास करती है कि कोरिया में एक ऐसा व्यक्ति है जो प्रतिज्ञा किया हुआ पास्टर है जो 12 जातियों का अगुवा है। वही पास्टर उसको भी स्वर्ग लेकर जाएगा। उसके मम्मी-पापा उसके लिए रो-रो कर परमेश्वर से प्रार्थना कर रहे हैं कि परमेश्वर उस पर द्या करे और उसको भटकने से बचा ले।

पता है दोस्तों? ऐसे बहुत लोग मिल जाएंगे जो कोरिया या चीन वाले पंथ के साथ जुड़ गए हैं। लेकिन सावधान! चीन का पंथ ‘सर्वशक्तिमान परमेश्वर की कलिसिया’ और कोरिया का पंथ ‘नया आकाश और पृथ्वी’ झूठे मसिहियों का समूह है। आइये इसके बारे में और अधिक जानते हैं लेकिन सब से पहले आपको यह जानना जरूरी है कि झूठे पंथ किसे कहते हैं।

झूठे मसीही का पंथ किसे कहते हैं? SHARE NOW  

ऐसे लोगों का समूह जो खुद को मसीही (ईसाई) मानते हैं लेकिन उनका विश्वास (सिद्धांत) मूल ऐतिहासिक मसीही लोगों से अलग होता है। ऐसे लोगों का समूह को ही झूठे मसीही पंथ कहा जाता है।

बाईबल ऐसे झूठे मसीही पंथों के बारे में क्या कहता है?

जब हम बाईबल को अच्छे से पढ़ेंगे तो हम झूठे मसीही लोगों के बारे में कई बातें पाते हैं। इसके बारे में स्वयं प्रभु यीशु मसीह ने और उसके चेलों ने कई बार चेतावनी दिए हैं। ये दस अलग-अलग वचन आपको सावधान करेगा। ध्यान से पढ़ें और समझने की कोशिश करें। आइये हम बाईबल से उन आयतों को पढ़े और समझे।

  1. यीशु ने उनको उत्तर दिया, “सावधान रहो! कोई तुम्हें न भरमाने पाए, क्योंकि बहुत ऐसे होंगे जो मेरे नाम से आकर कहेंगे, ‘मैं मसीह हूँ’, और बहुतों को भरमाएंगे। (मत्ती 24:4 – 5)
  2. बहुत से झूठे भविष्यवक्ता उठ खड़े होंगे, और बहुतों को भरमाएंगे। (मत्ती 24:11)
  3. उस समय यदि कोई तुम से कहे, ‘देखो, मसीह यहाँ है!’ या ‘वहाँ है!’ तो विश्वास न करना। (मत्ती 24:23)
  4. क्योंकि झूठे मसीह और झूठे भविष्यवक्ता उठ खड़े होंगे, और बड़े चिन्ह, और अद्भुत काम दिखाएंगे कि यदि हो सके तो चुने हुओं को भी भरमा दें। (मत्ती 24:24)
  5. लोग तुम से कहेंगे, ‘देखो, वहाँ है!’ या ‘देखो, यहाँ है!’ परंतु तुम चले न जाना और न उनके पीछे हो लेना। (लुका 17:23)
  6. तब वह अधर्मी प्रगट होगा, जिसे प्रभु यीशु अपने मुंह की फूँक से मार डालेगा, और अपने आगमन के तेज से भस्म करेगा। उस अधर्मी का आना शैतान के कार्य के अनुसार सब प्रकार की झूठी सामर्थ्य, और चिन्ह, और अद्भुत काम के साथ, और नाश होनेवालों के लिए अधर्म के सब प्रकार के धोखे के साथ होगा; क्योंकि उन्होंने सत्य से प्रेम नहीं किया जिस से उनका उद्धार होता। इसी कारण परमेश्वर उनमें एक भटका देनेवाली सामर्थ्य को भेजेगा कि वे झूठ की प्रतीति करें…। (2 थिस. 2:8 – 11)
  7. परंतु आत्मा स्पष्टता से कहता है कि आने वाले समयों में कितने लोग भरमानेवाली आत्माओं, और दुष्ट आत्माओं की शिक्षाओं पर मन लगा कर विश्वास से बहक जाएंगे…। (1 तिमू. 4:1 – 4)
  8. जो विवाह करने से रोकेंगे, और भोजन की कुछ वस्तुओं से परे रहने की आज्ञा देंगे…। (1 तिमू. 4:5)
  9. हे प्रियो, हर एक आत्मा की प्रतीति न करो, वरन आत्माओं को परखो कि वे परमेश्वर की ओर से हैं कि नहीं; क्योंकि बहुत से झूठे भविष्यवक्ता जगत में निकल खड़े हुए हैं। (1 यूहन्ना 4:1)
  10. यह कुछ अचंभे की बात नहीं क्योंकि शैतान आप भी ज्योतिर्मय स्वरगदुत का रूप धारण करता है। इसीलिए यदि उसके सेवक भी धर्म के सेवकों का सा रूप धरें, तो कोई बड़ी बात नहीं…। (2 कुरि. 11:14 – 15)

उपरोक्त वचनों के आधार पर कह सकते हैं कि हम अंत के दिनों में जी रहे हैं और बहुत से झूठे मसीह और भविष्यवक्ता हमारे वर्तमान समय में पाए जाते हैं।

ऐ खुदा के बंदे, जाग! सावधान रह।

सवाल: मैं पंथ से जुड़ा हुआ हूँ। अब मेरा क्या होगा?

अगर कोई यीशु मसीह पर विश्वास करने वाला ऐसे पंथ से जुड़ता है तो उसका क्या होगा? दोस्तों, आपके मन में भी यह सवाल आया होगा- तो आइये हम जानते हैं।

  1. वह मूल ऐतिहासिक मसीही सिद्धांत से अलग ही सिद्धांत को मानने लगता है।
  2. वह सब से पहले अपना चर्च जाना बंद कर देता है। फिर पास्टर से बात करना बंद। धीरे-धीरे वह अपने परिवार के लोगों से भी दूरियाँ बनाने लगता है।
  3. उसका स्वभाव में भी कुछ बदलाव देखने को मिलेगा। जैसे- चिड़चिड़ापन। वह दूसरों को सुसमाचार देने के लिए झूठ भी बोलने लगता है।
  4. अगर उसका विश्वास के बारे में कोई सवाल पूछे या वाद-विवाद करे तो उसका जबाब होगा – “तुमको सच्चाई नहीं पता है। तुम नरक जाओगे।“ वह वाद विवाद से बचने की कोशिश करेगा।
  5. वह अपने चर्च के पास्टर और अन्य मसीही लोग को भी पापी के रूप में देखता है।
  6. जैसा कि हमने वचन में पढ़ा – ऐसे लोग भटक जाएंगे। जिनका अंत विनाश है।

इंडिया में कौन-कौन सा पंथ (कल्ट ग्रुप) बढ़ रहा है?

वैसे देखा जाए तो कई तरह के पंथ पाए जाते हैं। उनमें से कुछ हैं –

  1. यहोवा साक्षी (Jehovah Witness)
  2. सर्वशक्तिमान परमेश्वर की कलिसिया (Church of almighty God)
  3. नया आकाश और पृथ्वी (New heaven and earth – Shinchinoji)
Shincheonji: New heaven and earth

ये तीन पंथ और हमारे विश्वास में क्या महत्वपूर्ण अंतर हैं?

  1. यहोवा साक्षी (Jehovah Witness) – ये लोग केवल यहोवा परमेश्वर को मानते हैं। ये त्रिएक परमेश्वर का सिद्धांत पर विश्वास नहीं करते हैं। ये प्रभु यीशु मसीह को स्वर्गदूत मानते हैं। पवित्रात्मा को परमेश्वर नहीं मानते लेकिन एक शक्ति की तरह मानते हैं।
  2. सर्वशक्तिमान परमेश्वर की कलिसिया (Church of almighty God) – ये लोग मानते हैं कि प्रभु यीशु मसीह का दोबारा आगमन हो चुका है। इस बार यीशु मसीह चीन में एक महिला के रूप में जन्मा है जिसका नाम है – Yang Xiangbin. ये लोग मानते हैं कि हमारा 66 पुस्तकों वाला बाईबल अब पुराना हो चुका है और हमें अब एक नया बाईबल की जरूरत है – ‘वचन देह में प्रगट होता है’।
  3. नया आकाश और पृथ्वी (New heaven and earth – Shinchionji) – ये लोग विश्वास करते हैं कि एक प्रतिज्ञा किया हुआ पास्टर कोरिया में है जिसका नाम है – Lee-Man-Hee. इस पास्टर ने 12 लोगों को नियुक्त किया है। हर विश्वासी को स्वर्ग का 12 दरवाजा से अंदर प्रवेश करने के लिए उन 12 लोगों में से किसी के समूह में शामिल होना जरूरी है। पापों की क्षमा के लिए प्रभु यीशु मसीह का क्रूस पर बलिदान के साथ-साथ उस पास्टर पर भी विश्वास करना जरूरी है।

दूसरों को इन पंथों के जाल में फँसने से कैसे बचाए?  

भारत के हर कलिसिया के अगुवों और विश्वासी के लिए कुछ सुझाव :

  1. अगर आप इस तरह के पंथ का कोई बाईबल अध्ययन ग्रुप से जुड़े हो तो कृपया उस ग्रुप को छोड़ दीजिए।
  2. अगर आप किसी व्हाट्सप्प या फेसबूक (WhatsApp or Facebook group) से जुड़े हो तो कृपया उस ग्रुप को छोड़ दीजिए। कहीं ऐसा न हो कि आपको देख कर दूसरे विश्वासी भी उस ग्रुप से जुड़ जाये।
  3. सभी कलिसिया के पास्टर और सेवकों से निवेदन है कि आप अपने कलिसिया में इन झूठे मसीही लोगों के बारे में चर्चा करें। जागरूकता फैलाये।
  4. हर बड़ी कलिसिया (या जिला स्तर पास्टर का कमिटी) अपने सारे मंडली के लिए एक पत्र जारी कर के विश्वासियों को इन पंथ से सावधान रहने और नहीं जुडने के लिए अपील करें।
  5. हर कलिसिया अपने विश्वासियों को मसीही सिद्धांतों की शिक्षा समय-समय पर दिया करें।

कितना जानते हो आप मसीही सिद्धांत के बारे में? आइये खुद का विश्वास को परखे। इस विश्वास टेस्ट में अभी हिस्सा लें – Quiz For Christians (Hindi & English)

अगर आपको कम अंक मिला है तो आप मसीही सिद्धांत का अध्ययन अपने पास्टर की सहायता से करे। या फिर चाहे तो आप घर बैठे ऑनलाइन Udemy App पर मसीही सिद्धांत का कोर्स कर सकते हो- Basic Christian doctrine and theology

“बहुतों को आग में से झपट कर निकालों।” (यहूदा 1:23)

इन झूठे पंथों के बारे में अधिक जानने कर लिए कृपया इन विडिओ को देखें –

मसीह में आपका भाई

जॉन तिर्की

WhatsApp & Call (+91 – 9538581282)

Share on facebook
Facebook
Share on whatsapp
WhatsApp

Leave a Comment

Your email address will not be published.

Open chat
Hello!
हम आपकी क्या मदद कर सकते हैं?